बिजनौर के एनसीआर में शामिल होने की सम्भावनाएं बढ़ीं!

डीएम ने अपनी संस्तुति सहित अनुरोध पत्र शासन को भेजा

बिजनौर। एक बार फिर बिजनौर के एनसीआर यानि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में शामिल होने की सम्भावना प्रबल हो गई है। डीएम श्री जगतराज ने जिला बिजनौर को एनसीआर में शामिल किये जाने के लिए शासन को अपनी संस्तुति सहित अनुरोध-पत्र पे्रषित किया है।
बता दें कि जिला बिजनौर को एनसीआर में शामिल करने के सम्बन्ध में शासन द्वारा डीएम को सुस्पष्ट आख्या उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये थे, जिसके क्रम में उन्होंने प्रमुख सचिव, आवास एवं शहरी नियोजन विभाग, उ.प्र. शासन लखनऊ को पे्रषित अपने पत्र में संस्तुति करते हुए शासन से बिजनौर को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सम्मिलित करने का अनुरोध किया है। डीएम श्री जगतराज ने उक्त परिपेक्ष्य में अधिक जानकारी देते हुए बताया कि शासन द्वारा स्पष्ट आख्या के साथ जिला बिजनौर की भौगोलिक, एतिहासिक स्थिति के अलावा जिले की जनसंख्या सहित अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर जानकारी चाही गयी थी, जिसे अद्यतन रूप में शासन को प्रेषित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि बिजनौर के लगभग सभी नगर क्षेत्रों से एनसीआर दिल्ली तक तथा नगर बिजनौर से 24 घन्टे परिवहन की सुविधा उपलब्ध है। प्रत्येक 30 मिनट पर दिल्ली के लिए बस सेवाएं तथा व्यापक रूप से ट्रक, मिनी ट्रक, डीसीएम आदि से माल ढुलाई का कार्य होता है। दिल्ली के लिए चांदपुर-गजरौला रोड एक अतिरिक्त मार्ग है। बस के अलावा बिजनौर से दिल्ली के लिए दो एक्सपे्रस रेलगाडिय़ां भी यातायात के लिए उपलब्ध हैं। उन्होंने यह भी बताया कि बिजनौर जिले में सिंचाई की पर्याप्त व्यवस्था है और शुद्ध पेयजल का भी यहां विशाल भण्डार है। वर्तमान में जिले में चीनी उद्योग, काष्ठ कला, बु्रश, वस्त्र, लोहा, प्लाईवुड, पेपर आदि उद्योग सफलतापूर्वक संचालित हैं। उन्होंने बताया कि बिजनौर में भविष्य में विद्युत पावर प्लांट/थर्मल पावर हाउस की भी सम्भावना है। उन्होंने बताया कि पत्र में शासन को अवगत कराया गया है कि जिले में औद्योगिक विकास की अपार संभावनाएं हैं। यहां का शांतिपूर्ण वातावरण, नेशनल एवं स्टेट हाईवे के अलावा अन्य सुविधायें भी उपलब्ध हैं। यह भी बता दें कि बिजनौर को एनसीआर में शामिल किये जाने की मांग वर्षों से की जा रही है। इस संबंध में पिछले वर्ष एक समिति का भी गठन किया गया था, जो निरन्तर प्रयासरत है। अब डीएम की संस्तुति से बिजनौर के एनसीआर में शामिल होने की संभावनाएं एक बार फिर बढ़ गई हैं