जम्मू : रामबन के पास मिनी बस खाई में गिरी; 20 लोगों की मौत, 13 जख्मी…

 जम्मू में रामबन के पास एक मिनी बस खाई में गिर गई। हादसे में 20 की मौत हो गई। 13 लोग जख्मी हैं। पुलिस के मुताबिक, बस बनिहाल से रामबन जा रही थी। इसी दौरान जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर कैला मोड़ के पास अनियंत्रित होकर हादसे का शिकार हो गई।

 

डोडा-किश्तवाड़-रामबन रेंज के डीआईजी रफीक उल हसन ने बताया कि हादसे की वजह तेज ड्राइविंग हो सकती है। प्रशासन की मांग पर राहत और बचाव कार्य के लिए हेलिकॉप्टर लगाया गया। आठ घायलों को एयरलिफ्ट किया गया।

 

मृतकों के परिजनों को पांच लाख की आर्थिक मदद

रामबन संभाग आयुक्त शौकत एजाज ने बताया कि मृतकों को परिजनों को 5 लाख रुपए, जबकि घायलों को 50-50 हजार रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी। रेस्क्यू अभियान में अहम भूमिका निभाने वाली रेडक्रॉस सोसाइटी को 50 हजार रुपए के इनाम का ऐलान किया गया।

 

उत्तराखंड सड़क हादसे में नौ की मौत:  उत्तरकाशी जिले में गंगोत्री धाम के पास एक वाहन शुक्रवार शाम को 60 मीटर गहरी खाई में गिर गया। इस हादसे में नौ लोगों की मौत हो गई। इसमें पांच लोग घायल हो गए। इस वाहन में 14 तीर्थयात्री सवार थे। सभी तीर्थयात्रा कर महाराष्ट्र और गुजरात लौट रहे थे।

 

Source – Dainik Bhaskar

Copy Right – Dainik Bhaskar

जेटली : आधार से अब भी जोड़े जा सकते हैं मोबाइल फोन और बैंक खाते…

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को कहा कि मोबाइल फोन और बैंक खातों को अनिवार्य रूप से आधार से जोड़ा जा सकता है। इसके लिए संसद में कानून पास कर मंजूरी दी जा सकती है। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि आधार लिंकिंग के लिए सरकार नया कानून लाएगी या नहीं।

 

सुप्रीम कोर्ट ने पिछले महीने आधार की संवैधानिक वैधता पर मुहर लगा दी थी। साथ ही कहा था कि स्कूलों में एडमिशन, बैंक खाता खोलने और मोबाइल फोन कनेक्शन या नया सिम कार्ड खरीदने के लिए आधार जरूरी नहीं है।

 

जेटली ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को काफी अच्छा निर्णय बताया। उन्होंने कहा कि आधार नागरिकता पहचान-पत्र नहीं है। यह ऐसा सिस्टम है, जिससे सभी तरह के लोगों को सब्सिडी और अन्य माध्यमों से सरकारी पैसा मिलता है। आधार का मुख्य उद्देश्य यही है।

 

वित्त मंत्री ने कहा कि संविधान के सेक्शन-57 के तहत प्राइवेट कंपनियों को आधार के इस्तेमाल का अधिकार दिया जा सकता है। ऐसे में कानूनी के माध्यम से मोबाइल फोन और बैंक खातों को आधार से जोड़ा जा सकता है।

 

Source – Dainik Bhaskar

Copy Right – Dainik Bhaskar

विधानसभा चुनाव: मप्र-मिजोरम में 28 नवंबर, छग में 12 व 20 नवंबर, राजस्थान-तेलंगाना में 7 दिसंबर को वोटिंग; नतीजे 11 दिसंबर को…

चुनाव आयोग ने शनिवार को पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। छत्तीसगढ़ में 12 नवंबर और 20 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। मध्यप्रदेश और मिजोरम में 28 नवंबर को वोटिंग होगी। वहीं, राजस्थान और तेलंगाना में 7 दिसंबर को मतदान होगा। सभी राज्यों के नतीजों का ऐलान 11 दिसंबर को किया जाएगा। अभी मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भाजपा की सरकार है। मिजोरम में कांग्रेस की सरकार है। तेलंगाना में टीआरएस सत्ता में थी। वहां विधानसभा भंग हो चुकी है।

मध्यप्रदेश और मिजोरम
नोटिफिकेशन : 2 नवंबर
नॉमिनेशन की आखिरी तारीख : 9 नवंबर
नॉमिनेशन की स्क्रूटनी : 12 नवंबर
नॉमिनेशन वापसी की आखिरी तारीख : 14 नवंबर
वोटिंग : 28 नवंबर

 

राजस्थान और तेलंगाना
नोटिफिकेशन :
 12 नवंबर
नॉमिनेशन की आखिरी तारीख : 19 नवंबर
नॉमिनेशन की स्क्रूटनी : 20 नवंबर
नॉमिनेशन वापसी की आखिरी तारीख : 22 नवंबर
वोटिंग : 7 दिसंबर

 

छत्तीसगढ़ का पहला चरण (इसमें नक्सल प्रभावित इलाकों में मतदान होगा)
नोटिफिकेशन : 16 अक्टूबर
नॉमिनेशन की आखिरी तारीख : 23 अक्टूबर
नॉमिनेशन की स्क्रूटनी : 24 अक्टूबर
नॉमिनेशन वापसी की आखिरी तारीख : 26 अक्टूबर
वोटिंग : 12 नवंबर

कुल सीटें : 18

 

छत्तीसगढ़ का दूसरा चरण
कुल सीटें :
 72
नोटिफिकेशन : 26 अक्टूबर
नॉमिनेशन की आखिरी तारीख : 2 नवंबर
नॉमिनेशन की स्क्रूटनी : 3 नवंबर
नॉमिनेशन वापसी की आखिरी तारीख : 5 नवंबर
वोटिंग : 20 नवंबर

 

किस राज्य में कब खत्म हो रहा विधानसभा का कार्यकाल
छत्तीसगढ़ :
 5 जनवरी 2019
मध्यप्रदेश : 7 जनवरी 2019
राजस्थान : 20 जनवरी 2019
मिजोरम : 15 दिसंबर 2018

 

हलफनामे के नियमों में बदलाव :  मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के हलफनामे के नियमों में भी सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के मुताबिक बदलाव किया गया है। उम्मीदवारों को उन विज्ञापनों के बारे में बताना होगा जो उन्होंने अपने खिलाफ दर्ज आपराधिक मुकदमों के संदर्भ में मीडिया में प्रकाशित कराए हैं।

 

कांग्रेस का आरोप :  कांग्रेस ने अजमेर में शनिवार को हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली की वजह से चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस का वक्त बदलने का आरोप लगाया। हालांकि, आयोग ने इसे खारिज कर दिया। पहले खबरें थीं कि आयोग दोपहर 12:30 बजे कॉन्फ्रेंस करेगा। बाद में वक्त बदलकर इसे तीन बजे किया गया।

पांचों राज्यों में 83 लोकसभा सीटें; भाजपा के पास 60, कांग्रेस के पास 9
मध्यप्रदेश 
: कुल 29 लोकसभा सीटें। इनमें से भाजपा के पास 26 और कांग्रेस के पास 3 सीटें।
छत्तीसगढ़ : कुल 11 सीटें। भाजपा के पास 10, कांग्रेस के पास 1 सीट।
राजस्थान : कुल 25 सीटें। भाजपा के पास 23, कांग्रेस के पास 2 सीटें।
मिजोरम : एक लोकसभा सीट जो कांग्रेस पास।

तेलंगाना : कुल 17 लोकसभा सीटें। टीआरएस के पास 11, भाजपा के पास 1, कांग्रेस के पास 2, तेदेपा के पास 1 और 2 अन्य के पास।

 

सत्ता के दावेदार
मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया
छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री रमन सिंह, अजीत जोगी, भूपेश बघेल, टीएस सिंहदेव
राजस्थान : मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया, अशोक गेहलोत, सचिन पायलट

 

हर जगह प्रचार के 3 ही चेहरे : नरेंद्र मोदी, अमित शाह और राहुल गांधी

 

2014 में तेलंगाना की स्थिति

दल  विधानसभा सीटें  लोकसभा

सीटें 

टीआरएस 63 11
कांग्रेस 21 02
तेदेपा 15 01
भाजपा 05 01
अन्य 15 02
कुल  119 17

 

2013 में मिजोरम विधानसभा की स्थिति

दल  सीटें 
कांग्रेस 34
एमएनएफ 05
अन्य 01
कुल  40 

 

Source – Dainik Bhaskar

Copy Right – Dainik Bhaskar