विकास की चुनौतियों को चुनौती देना मेरी आदत-मोदी…

उदयपुर,29 अगस्त। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नेे ढांचागत विकास की परियोजनाओं को समय पर और आधुनिक तरीके से पूरा करना अपनी सरकार की प्राथमिकता बताते हुये आज कहा कि यह उनके लिए बड़ी चुनौती है लेकिन चुनौतियों को चुनौती देना उनकी आदत है और देश को प्रगति के रास्ते पर ले जाने का उनमें माद्दा है, श्री मोदी ने राजस्थान के उदयपुर में 15 हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं के उद्घाटन एवं शिलान्यास के अवसर पर एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुये कहा कि विकास परियोजनाओं को समय पर पूरा करना उनकी उनकी सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि पांच हजार करोड़ रुपये से अधिक की जिन परियोजनाओं का वह उद्घाटन और नौ हजार करोड़ से अधिक की योजनाओं का शिलान्यास कर रहे हैं, ये सभी समय पर पूरी होंगी और इनसे राजस्थान का भाग्य बदल जायेगा। उन्होंने कहा कि वह विकास परियोजनाओं को लेकर राजनीतिक रोटी नहीं सकते। पिछली सरकारों ने कई योजनायें शुरू की थीं लेकिन उन्हें पूरा नहीं किया गया और भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) सरकार को उन्हें पूरा करना पड़ा। इस संदर्भ में उन्होंने छह लेन केबल आधारित चम्बल नदी पर बने पुल का उदाहरण दिया और कहा कि इस पुल पर 2006 में काम शुरू हो गया था लेकिन 11 वर्ष तक कोई प्रगति नहीं हुई। केन्द्र में उनकी सरकार आने के बाद 2014 में इस कार्य को हाथ में लिया गया और आज वह इस परियोजना को राजस्थान की जनता को समर्पित कर रहे हैं।
श्री मोदी ने कहा कि ढांचागत विकास की परियोजनाओं पर राजनीति नहीं होनी चाहिये। चुनाव के समय विकास योजनाओं की घोषणाएं हमारे यहां लगातार होती रही हैं और यह चुनावी घोषणाएं ही विकास के लिये सबसे बड़ी बाधा बनती हैं। उन्होंने इसे चुनावी बुराइयां बताया और कहा कि इस बुराई को सख्ती से खत्म किये जाने की जरूरत हैं। वह जो योजनायें शुरू करते हैं उन्हें समय पर पूरा करना उनकी सरकार के लिए एक चुनौती बन जाता है।
राजस्थान में पर्यटन को विकास के लिए महत्वपूर्ण बताते हुये उन्होंने कहा कि अच्छी सड़कें बनने से यहां पर्यटन का विकास होगा और देश-विदेश के पर्यटक बड़ी संख्या में यहां के आर्थिक ढांचे को मजबूत करेंगे। उनका कहना था कि अच्छी एवं आधुनिक सड़कें एक बड़ी चुनौती जरूर हैं लेकिन यह विकास की बड़ी छलांग हैं। सुरक्षित सड़कें न सिर्फ पर्यटन को बढ़ावा देंगी बल्कि किसानों के लिए भी फायदेमंद होंगी और प्रदेश में चहुंमुखी विकास की नींव बनेंगी। अच्छी सड़कों से सुदूर क्षेत्र में बसे किसान का उत्पाद भी समय पर बाजार में पहुंचेगा और गांवों का नये ढंग से विकास होगा। सामाजिक विकास को गति मिलेगी और लोगों के स्वास्थ्य में सुधार का एक जरिया बनेगा।
श्री मोदी ने कहा कि चीजों को आधुनिक बनाये जाने की सख्त जरूरत है और इसके लिए गांव-गांव में अभियान चलाया जाना चाहिए। उनकी सरकार ने इसी अभियान के तहत उज्ज्वला योजना चलायी और गरीबों को गैस चूल्हा उपलब्ध कराया है। उन्होंने कहा कि विकास परियोजनाओं शुरू करने से और समय पर उन्हें पूरा करने से न सिर्फ परियोजनाओं की लागत बचती है बल्कि लोगों के लिए रोजगार के अवसर खुलते हैं। श्री मोदी ने राजस्थान में बाढ़ से हुये नुकसान पर चिंता जताई और कहा कि इसकी भरपाई के लिए राज्य सरकार से उन्हें प्रत्यावेदन मिला हैं। इसके लिए केन्द्र की तरफ से उच्च स्तरीय जांच समिति भेजी गयी थी और यह समिति अपनी रिपोर्ट दे चुकी है। उन्होंने लोगों को भरोसा दिलाया कि बाढ़ पीडितों की केन्द्र सरकार पूरी मदद करेगी।
केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि उनके मंत्रालय ने तीन लाख करोड़ रुपये की सड़क परियोजनायें बनायी हैं और उन्हें समय पर पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण क्षेत्र में पिछले तीन वर्ष में जितना काम हुआ है उतना पांच दशक में भी नहीं हुआ।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि केन्द्र सरकार विकास का जो रोडमैप दे रही हैं उनकी सरकार उसी के अनुरूप काम कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.