बिजनौर – शिक्षामित्रों ने दूसरे दिन भी बीएसए कार्यालय पर की तालाबंदी…

बिजनौर। नौकरी पर लटकी तलवार से आहत शिक्षामित्रों ने गुरुवार को दूसरे दिन भी बीएसए कार्यालय पर प्रदर्शन कर तालाबंदी कर दी। शिक्षामित्रों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ भी नारेबाजी की।
मालूम हो कि शिक्षामित्रों में सुप्रीम कोर्ट द्वारा हाईकोर्ट के उस फैसले को सही ठहराने से रोष है, जिसमें शिक्षामित्रों के बतौर सहायक शिक्षक समायोजन को निरस्त किया गया है। आक्रोशित शिक्षामित्रों ने बुधवार को बीएसए कार्यालय पर तालाबंदी कर जोरदार प्रदर्शन किया था। प्रदर्शनकारी शिक्षामित्रों ने हाईवे पर जाम लगाकर प्रदेश सरकार का पुतला भी फूंका था। गुरुवार को फिर शिक्षामित्रों ने बीएसए कार्यालय पर प्रदर्शन कर तालाबंदी कर दी और धरने पर बैठ गये। आंदोलनरत शिक्षामित्रों का नेतृत्व आदर्श समायोजित शिक्षक वैलफेयर एसोसिएशन के प्रांतीय प्रभारी सौरभ चौधरी, जिलाध्यक्ष सुधीर चौहान, मरियम जैदी, सना सय्यद, मो. वाइज, संजीव कुमार, रामेन्द्र सिंह, प्रदीप कुमार, एहतशाम, रीता राजपूत, अंजु सैनी, रीतू चौधरी, ज्योति शर्मा आदि ने किया।
शिक्षा व्यवस्था लडख़ड़ाई
हरेवली। शिक्षामित्रों के हड़ताल पर जाने से जनपद में शिक्षा व्यवस्था लडख़ड़ा गयी है। जिस विद्यालय में सभी समायोजित शिक्षक हैं वहां पर विद्यालय खोलने की चुनौती विभाग के सामने आ गई है। अधिकांश विद्यालयों में एकल अध्यापक कट जाने से शिक्षा व्यवस्था लड़ाखड़ा गई है। हरेवली न्याय पंचायत के संकुल प्रभारी शहजाद आलम ने बताया कि जहां सभी समायोजित शिक्षक हैं। वहां उनके हड़ताल पर जाने से दूसरे विद्यालयों से अध्यापकों की व्यवस्था की गयी है। सभी विद्यालय गुरुवार को यथावत खुले।

Leave a Reply

Your email address will not be published.