गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में बिजनौर में पत्रकारों का मौन प्रदर्शन…

बिजनौर। साम्प्रदायिकता तथा कट्टरता के विरूद्ध आवाज और लेखनी उठाने वाली कर्नाटक की वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की निर्मम हत्या पर श्रद्धांजलि अर्पित करने तथा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा के लिए आज जिला मुख्यालय के पत्रकारों ने मौन जुलूस निकालकर राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को दिया। गुरूवार को वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की नृशंस हत्या के विरोध में संयुक्त पत्रकार संघर्ष समिति के आह्वान पर पत्रकार एजाज अली पार्क में एकत्रित हुए, जहां से मौन जूलूस निकालते हुए बड़ी संख्या में पत्रकार नगर पालिका चौराहा, डाकघर चौराहा, रोडवेज बस स्टैण्ड होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे। पत्रकारों ने गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में जिलाधिकारी जगतराज को ज्ञापन दिया। राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन में पत्रकार गौरी लंकेश की नृशंस हत्या की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए उनके हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तार कर कड़ी कार्रवाई करने और अभिव्यक्ति की आजादी की रक्षा करने की मांग की गयी।
जिलाधिकारी जगतराज ने भी पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता कायम रहनी चाहिए। उन्होंने पत्रकारों को आश्वासन देते हुए कहा कि वे अपना काम निर्भीक होकर करें। जिले के पत्रकारों की सुरक्षा के लिए प्रशसान पूरे प्रयास करेगा। वरिष्ठ पत्रकार अशोक मधुप, डा. सूर्यमणि रघुवंशी, ज्योतिलाल शर्मा और मरगूब रहमानी ने पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता कायम रहनी चाहिए। पत्रकार की हत्या अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला है। सरकार को पत्रकारों की सुरक्षा के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए। अन्यथा इस तरह के हमलों से आम आदमी की आवाज भी रखकर रह जाएगी, जिससे लोकतंत्र का अर्थ भी गौण होने लगेगा। मौन जुलूस में वरिष्ठ पत्रकार मरगूब रहमानी, नरेन्द्र मारबाड़ी, वसीम अख्तर, शकील अहमद, संजीव शर्मा, सुरेन्द्र गर्ग, इफ्तेखार मलिक, शैलेन्द्र गौड़, अनिल चौधरी, राजेन्द्र राजपूत, सतीश त्यागी, आसिपु अंसारी, अमित रस्तौगी, राजीव चौधरी रोहित त्रिपाठी, ब्रजवीर सिंह, मुनव्वर सोनू, मुशब्बर हुसैन, कल्लन कादरी, आकिफ अंसारी, राजू अग्रवाल, मुशब्बर हुसैन, नसीम मलिक, कमल, विपिन, रिजवान, अतुल मिन्टू, तुषार वर्मा, इमरान अंसारी, विनित साजन, आशीष तोमर, दीपक, अवनीश त्यागी, हितेश विश्वकर्मा, संजीव वर्मा, गिरिराज सिंह, नीरज वर्मा, नीरज कुमार, अनुराग शर्मा, जहीर अहमद, नईम अंसारी, मौ. आदिल, शुभम कुमार, ब्रजवीर सिंह, रमन खन्ना, सतेन्द्र, जितेन्द्र कुमार, फहीमुद्दीन, आदि शामिल रहे।

गौरी लंकेश का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा-रघुवंशी

उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन (रजि.) के प्रान्तीय अध्यक्ष चन्द्रमणि रघुवंशी ने पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए इसे अभिव्यक्ति की आजादी के लिए खतरा बताया। उन्होंने कहा कि गौरी लंकेश एक निर्भीक पत्रकार थीं, जिसकी कलम कट्टरवाद के खिलाफ चलती थी, जिसे हमेशा के लिए खामोश कर दिया गया। उन्होंने कहा कि गौरी लंकेश की शहादत बेकार नहीं जाएगी। पत्रकार अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए एकजुट होकर निर्भीकतापूर्वक कमल चलाते रहेंगे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.