अखिलेश का योगी सरकार पर हमला…

मैं सीबीआई से डरने वाला नहीं, भाजपा पटाने में माहिर, नेताजी को भी नहीं छोड़ा

लखनऊ,26 जुलाई। विधान परिषद में पिछले कई दिनों से शिक्षक दल को छोड़कर स पूर्ण विपक्षी सदस्यों के हंगामों और सदन की कार्यवाही के लगातार बाधित होते रहने के बावजूद आज सदन की कार्यवाही पूरी तरह पूरे समय शांति के साथ चली। वित्तीय वर्ष 2017-18 के योगी सरकार के प्रस्तुत बजट चर्चा में भाग लेने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी सरकार और बजट पर जमकर प्रहार किया। प्रश्न प्रहर पूरी तरह चला और कार्य स्थगन की सूचनाओं को केवल एक सदस्य द्वारा पढ़वाकर सभापति ने सूचनाओं को अस्वीकार करके शासन को संदर्भित कर दीं। सदन में अखिलेश यादव के संबोधन के समय विपक्षी सदस्यों ने मेजें थपथपाकर उनका हौसला बढ़ाया। वहीं नेता सदन दिनेश शर्मा सहित सदन में मौजूद मंत्रियों और सत्ता पक्ष के सदस्यों ने उनकी बातों को पूरी तरह शांतिपूर्वक सुना।
सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बजट को पूरी तरह दिशाहीन, विकास को रोकने वाला, किसान, नौजवान और पिछड़ों व हर वर्ग का विरेाधी बताया। उन्होंने कहा कि आज सत्ता पक्ष को प्रचण्ड बहुमत भी मिला है और केन्द्र में भी आपकी सरकार है। इसलिए नेता सदन से मेरा आग्रह है कि वह केन्द्र से संबंध बनाकर प्रदेश के विकास को और गति दें। उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्र की तीन वर्ष की सरकार ने कोई काम नहीं किया उल्टे मेरे मुख्यमंत्रित्वकाल में मेरे द्वारा बनवाये जा रहे ए स, मेडिकल कालेज, मेट्रो आदि में सहयोग करने के बजाय उनमें व्यवधान डाला। श्री यादव ने कहा कि हमारी सरकार ने लखनऊ में मेट्रो का काम पूरा करा दिया है अब नेता सदन केन्द्र सरकार से एनओसी लेकर मेट्रो तो चलवा दीजिये। उन्होंने दु:ख व्यक्त किया कि उत्तर प्रदेश के इतिहास का यह पहला मौका है जब किसी मुख्यमंत्री ने सदन में ऐसे शब्दों का प्रयोग किया जिससे उनका असली चेहरा सामने आ गया। अखिलेश यादव ने जहां बजट पर बिन्दुवार सरकार को कटघरे में खड़ा किया। नेता सदन डा. दिनेश शर्मा की योग्यता, कर्मठता की तारीफ की वहीं उन्हें आगाह भी किया कि अब आपके पास समय कम है। केन्द्र से 2019 से पहले जो चाहे करवा लो फिर कुछ नहीं होने वाला, क्योंकि केन्द्र सरकार के तीन वर्ष पूरे हो चुके हैं। उन्होंने भाजपा को पिछड़ा विरोधी बताते हुए तंज कसा कि पहले एक पिछड़े को मुख्यमंत्री नहीं बनने दिया। फिर एनेक्सी के पंचम तल से नेम प्लेट और अब उन्हें दिल्ली वापस भेजने की तैयारी हो रही है। अखिलेश यादव ने नेता सदन और भाजपा को इंगित करते हुए कहा कि आप लोग किसी भी व्यक्ति को पटा लेने में बहुत माहिर हैं यही कारण है कि आपने नेता जी मुलायम सिंह यादव को भी पटा लिया है। आप मेट्रो के उद्घाटन में हमें भले ही न बुलाना, आप बुलायेंगे तो भी हम नहीं आएंगे लेकिन हम जानते हैं आप हमारे कुछ अपनों को चुपचाप कार्ड भेज दोगे और वे आएंगे।
अखिलेश यादव ने सरकार द्वारा प्रस्तुत बजट भाषण में लिखे गये शेर-ओ-शायरी पर पलटवार करते हुए अपनी चर्चा में भी शेर पढ़ते हुए कहा कि मैं सच कहूंगा मगर फिर भी हार जाऊंगा, वो झूठ बोलेंगे और लाजवाब कर देंगे। उन्होंने नेता सदन की लगातार तारीफ करते हुए उन्हें धन्यवाद दिया कि उनकी सरकार ने मुझे जातिवादी और परिवारवादी कह-कहकर मुझे मेरी असलियत बता दी और मेरी आंखें खोल दीं। उन्होंने आरोप लगाया कि सीबीआई का दुरूपयोग केन्द्र सरकारें करती हैं लेकिन मैं सीबीआई की धमकी से डरनेवाला नहीं हूं। भाजपा ने मुझे भी सीबीआई क्लब का सदस्य बना दिया। शून्य प्रहर में सभापति ने आज अपनी एक ल िबत व्यवस्था में भाजपा सदस्य देवेन्द्र प्रताप सिंह द्वारा विगत दिवस सदन में सभापति के सहयोगी स्टाफ पर लगाये गये आरोपों को पीठ को लांछित करनेवाला, पूर्णतया अनुचित और सदस्य की गरिमा के प्रतिकूल बताया। शून्य प्रहर में सपा के अहमद हसन, श्रीराम सिंह यादव, आनंद भदौरिया, लीलावती कुशवाहा एवं अन्य सदस्यों ने बन्द की गयी समाजवादी पेंशन योजना के संबंध में कार्य स्थगन की सूचना दी। बसपा के सुनील कुमार चितौड़, प्रदीप कुमार जाटव, डा. विजय प्रताप एवं अन्य सदस्यों ने 3 जुलाई को ग्राम-भटजन, मोदीनगर, थाना-भोजपुर, गाजियाबाद निवासी बृजेश उर्फ बिरजू के साथ लूट व हत्या करने वाले अपराधियों के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही किये जाने का मामला कार्य स्थगन के रूप में उठाया। शिक्षक दल के ओम प्रकाश शर्मा, जगवीर किशोर जैन एवं अन्य सदस्यों ने 22 जुलाई को लगसमा कन्या इण्टर कालेज, गोण्डा, अलीग-सजय़ की प्रधानाचार्य के साथ विद्यालय प्रबंधक व अन्य के द्वारा किये गये अभद्र व्यवहार का मामला कार्य स्थगन के रूप में उठाया। कांग्रेस के दिनेश प्रताप सिंह, दीपक सिंह ने सुल्तानपुर की तहसील ल भुआ के अन्तर्गत धोपाप पौराणिक स्थल का रास्ता अवरूद्ध करने वालों के विरूद्ध कार्यवाही किये जाने का मामला कार्य स्थगन के रूप में उठाया। लोक दल के चौधरी मुश्ताक ने प्रदेश के निजी इंजीनियरिंग/मेडिकल कालेजों द्वारा निर्धारित फीस से अधिक फीस लिये जाने पर नियंत्रण लगाये जाने के संबंध में सूचना दी। निर्दलीय समूह के राज बहादुर सिंह चन्देल, चेत नारायण सिंह एवं कान्ति सिंह ने 14 अक्टूबर, 1986 के पूर्व 7 ÓकÓ के अंतर्गत मान्यता प्राप्त सभी 24 विद्यालयों को अनुदान दिये जाने के संबंध में सूचना दी। निर्दलीय समूह के चेत नारायण सिंह की इसी विषय से संबन्धित सूचना को उक्त सूचना से स बद्ध करने के निर्देश सभापति ने दिये। सपा के नरेश चन्द्र उत्तम, राम सुन्दर दास, शशांक यादव एवं अन्य सदस्यों ने प्रदेश के तराई क्षेत्र विशेष रूप से पीलीभीत में वनों के किनारे बसे गॉव के निवासियों का नरभक्षी बाघों से सुरक्षा किये जाने के संबंध में सूचना दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.